Type Here to Get Search Results !

हर चिंता होगी दूर यह 7 बातें याद रखना | Tension Free 7 Tips in Hindi

0

Tension Free 7 Tips in Hindi

हर चिंता होगी दूर यह 7 बातें याद रखना 

Tension Free Tips In Hindi आजकल के माहौल में टेंशन एक ऐसी समस्या है। जो हर किसी को होती है। शायद ही कोई ऐसा आदमी होगा जिसको टेंशन नहीं होगी लेकिन मेरा तो यही मानना है कि आजकल के युग में टेंशन हर किसी को होती है। किसी को बच्चोंं की पढ़ाई की टेंशन किसी को नौकरी की किसी को परिवारिक टेंशन किसी को रिश्तेदारों की टेंशन कुछ ना कुछ तो हर किसी को दिक्कत होती है।
            

मानसिक तनाव से मुक्ति के उपाय 

बहुत ज्यादा टेंशन लेना सेहत के लिए सही नहीं है। डॉक्टर भी यही सलाह देते हैं कि हमेशा खुश रहे क्योंकि चिंता बहुत सारी बीमारियों की जड़ होती है। अच्छा भला आदमी भी चिंता करके बीमार पड़ जाता है और कई गंभीर बीमारियों का शिकार हो जाता है इसलिए हमेशा चिंता मुक्त रहना चाहिए और सकारात्मक सोच ही सोचनी चाहिए नकारात्मक सोच से हमेशा बचना चाहिए

बाकी मेरा आप लोगों से यह सवाल है। के जिस काम के लिए आप चिंता कर रहे हो तो क्या वह काम आपके हाथ में है आप वह कर सकते हो तो आप आगे से जवाब दोगे कि हां कर सकते हैं। तो फिर चिंता किस बात की जब आप वह काम करके अपनी चिंता को खत्म कर ही लोगे तो फिर सोचना क्यों या कई बार ऐसा होता है। कि हमें लगता है कि हां यह काम हमारे हाथ में ही नहीं है। यह हमारे बस की बात नहीं है। तो फिर चिंता करना आपके लिए मूर्खता होगा

क्योंकि हर काम हमेशा अपने समय के मुताबिक होता है उसके लिए बिना मतलब सोचने का कोई फायदा ही नहीं है। क्या सोचने से काम हो जाएगा कभी नहीं होगा बाकी एक बार और एक बात और मैं आपसे कहना चाहती हूं कि हमें हमेशा अपना काम करते रहना चाहिए मेहनत करनी चाहिए कभी हार नहीं माननी चाहिए लेकिन चिंता करके अपने आप को अपने अंदर से खोखला नहीं करना चाहिए

कई बार ऐसा होता है के जो बच्चा रोज बहुत ज्यादा मेहनत करके पड़ता है हर काम स्कूल का टाइम पर करता है। और जब एग्जाम होते हैं तो उसके कम नंबर आ जाते हैं और जो बच्चा उससे कम पड़ता है। उसके ज्यादा नंबर आ जाते हैं तो यह भी चिंता का विषय बन जाता है। इन सब बातों को सोच कर अपना दिमाग खराब नहीं करना चाहिए क्योंकि जो चीज हमारे बस में ही नहीं है उसके बारे में क्या सोचना क्या सोचने से नंबर ज्यादा आ सकते हैं। कभी नहीं अगर आने होते तो पहले ही आ जाते

इसलिए हमें अपने काम पर ध्यान देना चाहिए चिंता से मुक्त रहना चाहिए जिस दिन आप यह सोचोगे कि हां यह काम मेरे बस में नहीं था। और उस काम को इग्नोर करोगे तो उस दिन से आपकी चिंता खत्म हो जाएगी दोस्तों आपने चिंता को दूर करने के लिए बहुत कुछ इंटरनेट पर देखा होगा और सुना होगा आज मैं आपको चिंता को दूर करने के लिए कुछ नए तरीके बताने जा रही हूं जिनको अपनी जिंदगी में अपना कर बहुत जल्दी आपकी टेंशन खत्म हो जाएगी आइए बात करते हैं तनाव मुक्त जीवन कैसे जिए
 

मानसिक तनाव दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय 


म्यूजिक जा बारिश की आवाज 

अगर आपको बारिश की आवाज पसंद है। तो आप उसे हेडफोन लाकर अपने फोन में सुने शायद मेरा मानना है कि बारिश की आवाज सबको पसंद होती है। अगर आप अपना पूरा ध्यान इस में लगाओगे तो आपको अच्छा फील होगा अगर देखा जाए तो यह एक तरीके  का मेडिटेशन है। इसे करने से आपको बहुत रलेक्स महसूस होगा, अगर आप कोई भी काम करोगे तो बहुत अच्छे मूड में करोगे और हर परेशानी का सामना करने की आपको ताकत मिलेगी अगर आपको म्यूजिक सुनना अच्छा लगता है तो म्यूजिक सुने इससे आपका ध्यान इधर-उधर नहीं होगा और आपको अच्छा महसूस होगा और आपकी टेंशन भी दूर होगी

संतुलित भोजन 

सही समय में सही मात्रा में सही भोजन का चुनाव करें वह भोजन करें जिसमें सारे पौष्टिक तत्व मौजूद हों भगवत गीता में श्री कृष्ण जी ने विजय कहा है कि ज्यादा खाने वाला इंसान भी सुखी नहीं रह सकता और कम खाने वाला इंसान भी सुखी नहीं रह सकता क्योंकि आपके भोजन का सीधा असर आपके मन पर पड़ता है किसी ने ठीक ही कहा है। जैसा अन्न वैसा मन इसलिए भोजन वह खाएं जो आपके शरीर के लिए अच्छा हो ना के अपनी चटकोरी जुबान लिए जो भोजन आपको अच्छा लगता है वह मत खाएं लेकिन वह खाएं जो आपके शरीर को अच्छी तरह से पच जाता है। इसलिए कहते हैं कि भोजन वही करें जो आपके मन को शांति दे और आपको ठहराव दे

जल्दी सोना 

तीसरी बात यह है कि आपको रात को जल्दी सोना चाहिए और सुबह जल्दी उठना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से आपकी 70 पर्सेंट बीमारियां खत्म हो जाएंगी डॉक्टर भी कहते हैं कि रात को जल्दी सोए और सुबह जल्दी उठे इससे इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और शरीर में ऊर्जा का संचार होगा और सभी कामों को टाइम पर करके आप चिंता मुक्त रहोगे कुछ लोग रात को देर तक जागते हैं और लेट उठते हैं। दो जिसके कारण उनका दिमाग कमजोर हो जाता है। और अच्छा सोचने समझने की शक्ति खत्म हो जाती है। जिसके कारण बिना वजह आदमी चिंता का शिकार हो जाता है।

ध्यान लगाना 

इस तरह से अगर आप एक अच्छी जिंदगी जीना चाहती हो तो ध्यान को अपनी जिंदगी में लागू करें इसको अपनी जिंदगी का एक हिस्सा बना ले जय ना सोचे कि जय धार्मिक लोगों का काम है क्योंकि आजकल चिंताओं के युग में ध्यान लगाना आपके शरीर के लिए बहुत आवश्यक है। हर रोज 15 मिनट ध्यान जरूर लगाना चाहिए वैसे तो 30 मिनट करना चाहिए लेकिन शुरुआत में 15 मिनट ही करें जैसे आप अपने शरीर को बाहर से तो साफ कर लेते हो वैसे अंदर के मन को भी साफ करना बहुत जरूरी है ध्यान लगाने से आपके नकारात्मक विचार दिमाग से बाहर निकालने में आपको सहायता मिलेगी जिसके कारण आपके मन में शांति और ठहराव आएगाइसलिए मैं आपको कहना चाहती हूं कि ना तो बीते हुए दुख के बारे में चिंता करें और ना ही आने वाले कल के बारे में सोचें आपका जो आज है उसको उसके बारे में सोचें कहीं ऐसा ना हो कि चिंता करके आपका आज बिगड़ जाए

समय पर काम करना 

एक बात मैं आपको यह भी कहना चाहूंगी कि हर काम के लिए एक समय बना ले टाइम टेबल के हिसाब से चलें कई बार ऐसा होता है कि हम यह सोचते हैं कि यह भी करना है वह भी करना है इस तरह से हमारा मानसिक संतुलन बिगड़ जाता है हमारे दिमाग़ पर बोझ पड़ जाता है सभी कामों को एक साथ नहीं पकड़े अगर आप कोई काम कर रहे हो तो उसको एक-एक करके करें समय जरूर लग जाएगा लेकिन आपका काम आराम से हो जाएगा ऐसा करने से आपको हल्का महसूस होगा कभी कबार कोई अच्छी बुक पढ़कर मैगजीन पढ़कर या अपने पसंद की कोई वीडियो देख कर भी हम अपने मूड को फ्रेश कर सकते हैं और चिंता से बच सकते हैं।

अपनों के साथ समह बिताना 

रिश्तेदारों दोस्तों के साथ मिलने जुलने से भी हमेशा हमें अच्छा महसूस होता है कुछ लोगों की आदत होती है कि वह ज्यादा घर में रहना पसंद करते हैं। ज्यादा वह किसी से मेलजोल नहीं रखते ऐसा करने से उनकी चिंता खत्म नहीं होती क्योंकि वह हमेशा अकेले सोचते रहते हैं इसलिए हमें अपने रिश्तेदारों के दुख सुख में उनका साथ देना चाहिए आना जाना चाहिए और अपनी हर बात अपने किसी दोस्त से या करीबी रिश्तेदार से शेयर करनी चाहिए लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि सबसे पहले अपने फैमिली मेंबर से अपनी हर बात शेयर जरूर करें चाहे कैसी भी हो क्योंकि परिवार जो होता वह कभी गलत राय नहीं देता कई बार ऐसा होता है कि पति पत्नी के बीच में झगड़ा हो जाता है। जिसके कारण दोनों एक दूसरे के साथ बात करना बंद कर देते हैं पत्नी को भी चिंता होती है। और फिर पति को भी होती है इसलिए उन दोनों में से किसी एक को जय जरूर सोचना चाहिए कि हमें आपसे में समझौता करना चाहिए और एक को पहले आगेेेे जरूर बनना चाहिए गलती मांगने से कोई छोटा नहीं हो जाता ऐसा करने से आप अपनी परेशानी को काफी हद तक दूर कर सकते हो

अपने बारे में सोचना

बाकी एक बात और है कि अपने लिए भी समय जरूर निकालें कुछ औरतें ऐसी होती हैं जो घर का सारा काम करती हैं अपने बच्चों को संभालती हैं पति का ध्यान रखती हैं पूरे परिवार का ध्यान रखती हैं लेकिन उन उनको अपने लिए समय नहीं मिलता ना ही सजने सवरने का टाइम मिलता है। ना ही कहीं घूमने जाने का टाइम मिलता है इसलिए उनके दिमाग पर भी बहुत ज्यादा प्रेशर आ जाता है।
 
मैं उन औरतों के विषय में कहना चाहती हूं कि प्लीज अपने लिए समय जरूर निकाले अपने पति और बच्चों के साथ कहीं छुट्टियों में घूमने जाएं और एक अच्छे से रेस्टोरेंट में खाना खाएं ऐसा करने से आपको अच्छा फील होगा और आपका मन भी प्रसन्न रहेगा और कभी-कभी थिएटर में मूवी देखने भी जाएं या तो अपने परिवार के साथ में जा अपने फ्रेंडस के साथ जाए ऐसा करने से काफी हद तक का आपकी सभी परेशानियों का हल हो सकता है। और ज्यादा चिंताओं से भी आपको आजादी मिलेगी।

निष्कर्ष

मैं आशा करती हूं मेरे सभी आर्टिकल की तरह आपको Tension Free Tips In Hindi आर्टिकल भी जरूर पसंद आया होगा इस तरह इस आर्टिकल में चिंता दूर करने के तरीकों को जान के आप अपनी जिंदगी को और भी सुखद बना सकतेे हो और चिंता ना कर के हर आने वाली गंभीर बीमारी से बच सकते हो

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad